Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

हमारे बारे में

//

कोरोना से लड़ाई में क्या बचाएगी हर्ड इम्युनिटी, WHO की चीफ साइंटिस्ट बोलीं- ये गलती पड़ेगी भारी

नई दिल्ली: वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) की चीफ साइंटिस्ट डॉ सौम्या विश्वनाथन (Dr Soumya Swaminathan) ने कहा है कि कोविड-19 (Covid-19) के...



नई दिल्ली: वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) की चीफ साइंटिस्ट डॉ सौम्या विश्वनाथन (Dr Soumya Swaminathan) ने कहा है कि कोविड-19 (Covid-19) के खिलाफ लड़ने के लिए नेचुरल इंफेक्शन के जरिए हर्ड इम्युनिटी हासिल करने का विचार मूर्खतापूर्ण है. क्योंकि इसके लिए बड़ी कीमत चुकानी पड़ती है. उन्होंने एनडीटीवी से इंटरव्यू में यह बात कही. उन्होंने कहा कि ओमिक्रॉन का सब वेरिएंट BA.2 मूल वेरिएंट BA.1 की तुलना में ज्यादा संक्रामक है और इसका ट्रांसमिशन अन्य सब वेरिएंट से अधिक है. दुनिया के कई देशों को इसने अपनी चपेट में ले लिया है, खासकर डेनमार्क और भारत.

डॉ सौम्या विश्वनाथन ने कहा कि विश्व स्वास्थ संगठन अभी तक ओमिक्रॉन वेरिएंट के प्रभाव पर टिप्पणी नहीं कर सकता है क्योंकि यह एक नया वेरिएंट है. इसे लेकर इस बात पर स्टडी चल रही है कि अगर यह वेरिएंट पुनः संक्रमण का कारण बनता है तो यह लंबी अवधि में इम्युनिटी को किस तरह प्रभावित करेगा.

उन्होंने कहा कि यह जानने के लए 2 महीने का समय बहुत कम है. हमने कुछ स्टडीज को देखा है जहां नए वेरिएंट से ठीक होने वाले मरीजों के रक्त ने डेल्टा संक्रमण में मदद की, लेकिन यह नहीं कहा जा सकता है कि यह भविष्य के वेरिएंट के लिए सही साबित होगा या नहीं.

मौजूदा कोविड-19 वैक्सीन ओमिक्रॉन वेरिएंट के खिलाफ कितनी प्रभावी है इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि, लैब में हुई स्टडीज से यह पता चला है कि एंटीबॉडीज नए वेरिएंट को बेअसर करें ऐसी संभावना कम है. हालांकि राहत की बात है कि वैक्सीनेशन कराने वाले रोगियों में मौत और गंभीर बीमारी के मामले कम हैं.

डॉ सौम्या विश्वनाथन ने कहा कि वैक्सीन की मदद से मौत और अस्पताल में भर्ती होने का जोखिम कम हो रहा है. साथ ही उम्रदराज और कमजोर आबादी को वायरस के प्रभाव से सुरक्षित है. इससे पता चलता है कि कोरोना वैक्सीन प्रभावी है और एक बेहतर रक्षा प्रणाली है.

उन्होंने कहा कि हाइब्रिड इम्युनिटी इस समय हमारे पास सबसे मजबूत इम्युनिटी है, हाइब्रिड तब होता है जब कोई ओमिक्रॉन से संक्रमित हो गया हो और उसे वैक्सीन की खुराक भी मिल गई हो. कोरोना के अन्य वेरिएंट आने के सवाल पर डॉ सौम्या विश्वनाथन ने कहा कि यह एक RNA वायरस है और इसमें म्यूटेशन होना स्वाभाविक है.

No comments

राजनीति

//