Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

हमारे बारे में

//

किसान सम्मान निधि पाए हो तो भूल जाइए श्रमिक भत्ता

                                         - डा. संतोष अग्रहरि, सहायक श्रमायुक्त, शामली रायपुर। जिले में किसान सम्मान निधि की रजिस्ट्रेशन किए ...

                                         - डा. संतोष अग्रहरि, सहायक श्रमायुक्त, शामली

रायपुर। जिले में किसान सम्मान निधि की रजिस्ट्रेशन किए जा रहे हैं। साथ ही 31 दिसंबर तक रजिस्ट्रेशन करा चुके तीन लाख 20 हजार 929 श्रमिकों को दो-दो हजार भरण पोषण भत्ता दिया भी जा चूका है। इस के अलावा इस योजना में सैकड़ों ऐसे लोगों ने भी आवेदन किए है। जिन्हे किसान सम्मान निधि या अन्य योजनाओं का लाभ भी लिया है।

ऐसे में विभाग ने स्पष्ट किया है कि ऐसे लाभार्थी योजना के लिए अपात्र माने जाएंगे। इन्हें भरण पोषण भत्ता नहीं मिल सकेगा। आधार से लिकअप होने के कारण केवल ऐसे लोगों को लाभ मिलेगा, जो किसान सम्मान निधि या अन्य योजना में लाभ न उठा चुके हों।

जिले के श्रम विभाग को पांच लाख 37 हजार 253 मजदूरों का पंजीकरण ई-श्रम पोर्टल पर कराने का लक्ष्य मिला था। इसमें पंजीकृत श्रमिकों को दिसंबर से मार्च माह तक दो हजार का भरण पोषण भत्ता मिलना था। निःशुल्क  बनने वाले ई-श्रम कार्ड से असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को जहां एक वर्ष में पांच लाख रुपये तक का इलाज स्वयं और उनके परिवार का हो सकेगा। 

वहीं दुर्घटना में मृत्यु होने पर दो लाख रुपये तथा दिव्यांगता की अवस्था में एक से दो लाख रुपये तक की सहायता राशि मिलेगी। अभी भी इसके लिए रजिस्ट्रेशन चल रही हैं। भरण पोषण भत्ते के लिए असंगठित क्षेत्र के पंजीकृत श्रमिकों को दिसंबर से मार्च तक 500 रुपये प्रतिमाह भरण पोषण भत्ता मिलना शुरू हो गया है। 

इसमें विभाग ने स्पष्ट किया है कि किसान सम्मान निधि या अन्य योजनाओं का लाभ उठा चुके श्रमिकों को भरण पोषण भत्ते की राशि नहीं मिल सकेगी। आधार कार्ड का लिकअप होने के कारण यह केवल एक ही योजना का लाभ दिला सकेगी। इन्होंने कहा

जिले में ई-श्रम कार्डधारक कामगारों को भरण-पोषण भत्ता के रूप में दिसंबर माह से मार्च माह तक 500 रुपये प्रतिमाह की दर से दो हजार रुपये की धनराशि दी जा रही है, लेकिन किसान सम्मान निधि प्राप्त कर चुके लोग भरण पोषण भत्ता का लाभ नहीं ले सकेंगे। आधार कार्ड लिकअप होने के कारण ऐसे लाभार्थी पकड़ में आ जाएंगे और केवल एक ही योजना का लाभ मिल सकेगा।

No comments

राजनीति

//