Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

हमारे बारे में

//

कोरोना संकट के बीच ‘बर्ड फ्लू’ फैलने का बढ़ा खतरा… एक शख्स हुआ संक्रमित…

नई दिल्ली: कोरोना (Coronavirus) के बढ़ते मामलों के बीच एक्सपर्ट बर्ड फ्लू (Bird Flu) फैलने की चेतावनी भी दे रहे हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन ...



नई दिल्ली: कोरोना (Coronavirus) के बढ़ते मामलों के बीच एक्सपर्ट बर्ड फ्लू (Bird Flu) फैलने की चेतावनी भी दे रहे हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO on Bird Flu) ने बर्ड फ्लू के फैलने और इसके एक ज्यादा वेरिएंट होने की आशंका जताई है. डब्ल्यूएचओ के मुताबिक एशिया और यूरोप में बर्ड फ्लू के एक अधिक वेरिएंट हो सकते हैं. इस बीच इंग्लैंड की स्वास्थ्य सुरक्षा एजेंसी ने घोषणा की है. दक्षिण पश्चिम इंग्लैंड में रहने वाले एक शख्स में बर्ड के दुर्लभ संक्रमण का पता चला है.

यूकेएचएसए ने बताया कि बड़ी संख्या में बर्ड फ्लू से संक्रमित पक्षियों के संपर्क में रहने की वजह से व्यक्ति संक्रमित हो गया था. एजेंसी के मुताबिक व्यक्ति ने संक्रमित पक्षियों को अपने घर के आस पास ही रखा था.

एजेंसी ने कहा कि व्यक्ति के संपर्क में आने वाले सभी लोगों का पता लगा लिया गया. सभी लोगों की टेस्टिंग हो चुकी है और किसी में भी संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई है. संक्रमित व्यक्ति के बार में बताया गया कि शख्स को आइसोलेट कर दिया गया है और इसकी जानकारी विश्व स्वास्थ्य संगठन को दे दी गई है.

बर्ड फ्लू का संक्रमण एवियन इन्फ्लूएंजा वायरस H5N1 के कारण फैलता है. फिलहाल अभी तक बर्ड फ्लू को लेकर यह सामने आया है कि यह मानवों में नहीं फैलता लेकिन ऐहतियात के तौर पर अधिकारियों ने जनता से मृत पक्षियों को न छूने की अपील की है. यूकेएचएसए ने कहा कि बर्ड फ्लू से संक्रमित पक्षियों को मार दिया गया है.

यूकेएचएसए के मुख्य वैज्ञानिक अधिकारी प्रोफेसर इसाबेल ओलिवर ने कहा एवियन फ्लू वायरस का खतरा आम जनता पर बहुत कम होता लेकिन कुछ ऐसे मतभेदों में मनुष्यों में यह वायरस फैलने का मामला सामने आया है. उन्होंने कहा कि हमारे पास एक मजूबत सिस्टम है जिससे हम इस संक्रमण का पता लगाकर इसके खिलाफ कार्रवाई कर सकते हैं.

उन ओलिवर ने कहा कि वर्तमान में इस बात का कोई सबूत नहीं है कि यूके में व्यक्ति में पाया गया वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल सकता है, लेकिन हम जानते हैं कि वायरस हर समय विकसित होते हैं और हम स्थिति की बारीकी से निगरानी करना शुरू कर दिया है. हमने इस व्यक्ति के संपर्क में आने वाले सभी लोगों का पता लगा लिया लेकिन किसी भी में भी संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई है. यूके की मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी, क्रिस्टीन मिडिलमिस ने कहा: “जबकि एवियन इन्फ्लूएंजा पक्षियों में अत्यधिक संक्रामक है, यह एक बहुत ही दुर्लभ घटना है.

No comments

राजनीति

//