Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

हमारे बारे में

//

रात में हुई लूटपाट… जबरन वसूली के आरोप में 2 पुलिसकर्मी ही हुए गिरफ्तार…

पश्चिम बंगाल के मालदा जिले में पुलिसकर्मियों के एक दल ने कथित तौर पर एक व्यापारी के घर में लूटपाट की घटना और दो पुलिसकर्मियों के निलंबन का म...



पश्चिम बंगाल के मालदा जिले में पुलिसकर्मियों के एक दल ने कथित तौर पर एक व्यापारी के घर में लूटपाट की घटना और दो पुलिसकर्मियों के निलंबन का मामला अभी ठंडा भी नहीं पड़ा था कि पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में रात में कोलकाता पुलिसकर्मियों द्वारा लूटपाट करने और जबरन वसूली करने का मामला सामने आया है. 

इस मामले में कोलकाता पुलिस के दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. दोनों ही पुलिसकर्मी हैं. दोनों पर ट्रक चालक से रंगदारी वसूलने का आरोप है. बड़ाबाजार थाने की पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार किया है. आरोपियोंम के नाम शेख अकबर और शेख जमीर मंडल हैं. दोनों पार्क सर्कस ट्रैफिक गार्ड में कार्यरत हैं. एक पुलिस की गाड़ी चलाने का काम करता है, तो दूसरा सिविक वोलेंटियर्स है.

घटना मंगलवार को घटी है. प्राप्त जानकारी के अनुसार कोलकाता पुलिस की गाड़ी के साथ मध्य कोलकाता में अर्मेनियन स्ट्रीट क्रॉसिंग जांच कर रहे थे. आरोप है कि जिस लाल बत्ती लगी गाड़ी को ओसी या एडिशनल ओसी द्वारा इस्तेमाल जाती है, शेख अकबर और शेख जमीर मंडल उसे लेकर जांच कर रहे थे.

ट्रक ड्राइवर से जबरन छिन लिए पैसे और कागजात

चालकों ने आरोप लगाया कि एक के बाद एक ट्रक को रोक कर सवाल कर रहे थे. विभिन्न दस्तावेज देख रहे थे. आरोप है कि उनलोगों ने फर्जी केस कर किसी से पैसे भी लिए. ऐसे ही एक ट्रक चालक को दो आरोपी पुलिसकर्मियों ने पकड़ लिया. उन्होंने चालक का आधार कार्ड, अन्य दस्तावेज, ड्राइविंग लाइसेंस और यहां तक ​​कि 5,000 रुपये और चालक के सोने के आभूषण भी जब्त कर लिये. ड्राइवरों को डरा धमका कर शेख जमीर मंडल और शेख अकबर सब लेकर चंपत हो गए. इसी बीच सबकुछ छिन जाने के बाद ट्रक ड्राइवर थाना पहुंचा. वे बड़ाबाजार थाने गए और पूरा मामला सुनाया. उनसे अपना ड्राइविंग लाइसेंस की वापसी की मांग की. इस बीच ड्राइवर का बयान सुनकर थाना प्रभारी के होश उड़ गए. उन्हें समझ में आ गया कि कुछ गलत हुआ हुआ. उन्हें संदेह हुआ कि कुछ गड़बड़ है.

सीसीटीवी फुटेज की जांच से हुआ मामले का खुलासा

बड़ाबाजार थाने की टीम तुरंत ड्राइवर को लेकर मौके पर पहुंची. वहां लगे सीसीटीवी को चेक किया गया. उसका फुटेज देखने के बाद पूरे मामले का खुलासा हुआ. जांच के बाद पुलिस को पता चला कि यह पार्क सर्कस ट्रैफिक गार्ड की कार थी. वहां से सिविक वोलेंटियर्स और पुलिस वाहन के चालक को गिरफ्तार कर लिया गया. वहीं, आरोपियों द्वारा इस्तेमाल की गई कार भी जब्त कर ली गई है. दूसरे शब्दों में, पुलिस ने पुलिस की गाड़ी को जब्त कर लिया. शेख अकबर और शेख जमीर मंडल पर गैर-जमानती धारा के तहत लूटपाट का आरोप लगाया गया है. गुरुवार को आरोपियों को बैंकशाल कोर्ट पेश किया जाएगा. इनकी कस्टडी के लिए बड़ाबाजार थाने की पुलिस आवेदन कर सकती है.

No comments

राजनीति

//