Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

हमारे बारे में

//

जिले में जल जीवन मिशन’ की शुरुआत की गई सर्वाधिक 325 सोलर ड्यूल पंपों की स्थापना

सौर उर्जा से पेयजल और सिंचाई के लिए बिना खर्चे का पानी जांजगीर-चांपा । जल एक बुनियादी आवश्यकता है। पेयजल की सुनिश्चित उपलब्धता की कमी का प्...

सौर उर्जा से पेयजल और सिंचाई के लिए बिना खर्चे का पानी

जांजगीर-चांपा । जल एक बुनियादी आवश्यकता है। पेयजल की सुनिश्चित उपलब्धता की कमी का प्रतिकूल प्रभाव परिवारों और स्थानीय समुदायों दोनों के स्वास्थ्य पर पड़ता है। घर में पेयजल की सुविधा न होने पर लोगों, विशेषकर महिलाओं और बेटियों को दूर-दूर से अपने घरों के लिए पानी लाने के लिए जाना-आना पड़ता है, समय और ऊर्जा बरबाद करने पर मजबूर होना पड़ता है। सरकार ने जनसामान्य के जीवन को आसान बनाने के लिए अनेक उपाय किए हैं। लोगों के पानी की स्वाभाविक जरूरतों को ध्यान में रखते हुए जल जीवन मिशन’ की शुरुआत की गई है।



जल जीवन मिशन अंतर्गत पीएचई के अलावा क्रेडा के माध्यम से भी पेयजल की आपूर्ति की जा रही है। जांजगीर-चांपा जिले के विभिन्न ग्रामों/स्थलों में अब तक सर्वाधिक 325 सोलर ड्यूल पंपों की स्थापना का कार्य पूर्ण किया जा चुका है। सोलर पंपों को सौर ऊर्जा के माध्यम से चलाए जाने पर शासन को बिजली बिल पर किसी भी प्रकार का व्यय नही करना होगा । इससे पर्यावरण में भी किसी भी प्रकार का प्रदूषण नही होगा।

जल जीवन मिशन अंतर्गत जिले के समस्त विकासखण्डों में 12 मीटर ऊॅचाई, 1200 वॉट, 10 हजार लीटर पानी टंकी क्षमता के सोलर ड्यूल पंपो की स्थापना का कार्य छत्तीसगढ़ राज्य अक्षय ऊर्जा विकास अभिकरण (क्रेडा) द्वारा किया गया है। प्रदेश में जांजगीर-चांपा जिले के विभिन्न ग्रामों/स्थलों में अब तक सर्वाधिक 325 सोलर ड्यूल पंपों की स्थापना का कार्य पूर्ण किया जा चूका है। इस योजना में क्रेडा द्वारा 10 हजार लीटर पानी टंकी को सौर ऊर्जा के माध्यम से भरा जायेगा एवं पी.एच.ई. द्वारा पाईपलाईन बिछाकर ग्रामवासियों को घरों के द्वार पर ही स्वच्छ पानी पहुॅचाया जायेगा जिससे ग्राम वासियों को दूर गली मोहल्लों पर जाना नही पडे़गा।

पूर्व वर्षाे 2019-20 एवं 2020-21 में भी क्रेडा द्वारा 6 मीटर ऊचॉई के 5 हजार लीटर टंकी क्षमता के 40 से भी अधिक सोलर ड्यूल पंपों का सफल संचालन किया जा रहा है । अब 12 मीटर उंचाई सोलर ड्यूल पंपों की स्थापना होने से और अधिक ग्रामीणों को उनके घरों के द्वार पर ही नलों के माध्यम से रनिंग वॉटर प्राप्त होगा।

सौर सुजला योजनांतर्गत वर्ष 2019-20, वर्ष 2020-21 एवं 2021-22 में कुल 684 कृषकों को 03/05 एच.पी. क्षमता के सोलर पंपों का प्रदाय एवं स्थापना किया गया हैं। जिसकी सहायता से कृषकों को बारहमासी सिंचाई सुविधा बिना अतिरिक्त व्यय के मिल रही है। कृषकों द्वारा दोहरी फसल लिये जाने से उनको आर्थिक लाभ भी मिल रहा है।

विभिन्न गौठानों एवं चारागाहों में- 257 सोलर पंपों की स्थापना 

इसके अतिरिक्त जिले में  मुख्यमंत्री के फ्लेगशिप योजना नरवा, गरूवा, घुरवा, बाड़ी अतंर्गत विभिन्न गौठानों एवं चारागाहों में 257 सोलर पंपों की स्थापना कर न केवल पशुओं को पेलजल उपलब्ध कराया जा रहा है अपितु वर्मी कम्पोस्ट एवं अन्य निर्माण कार्यों में भी पानी उपलब्ध कराया जा रहा है। साथ ही सोलर पंपों के माध्यम से पानी उपलब्ध होने से सिंचाई कर चारागाहों का भी विकास किया जा रहा है।

No comments

राजनीति

//