Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

हमारे बारे में

//

महेश्वर शांडिल्य के परिजनों को लिखित में मिले आश्वासन के बाद 30 घंटे कि चक्काजाम आंदोलन खत्म

जांजगीर-चांपा। आज जिले के मुलमुला थाना के त्रिमूर्ति चौक में 30 घंटे के बाद लगातार सामाजिक कार्यकर्ताओं व भीम आर्मी के दबाव के आगे प्रशासन ...

जांजगीर-चांपा। आज जिले के मुलमुला थाना के त्रिमूर्ति चौक में 30 घंटे के बाद लगातार सामाजिक कार्यकर्ताओं व भीम आर्मी के दबाव के आगे प्रशासन ने पीड़ित परिवारों को उचित मुआवजा देने के लिखित आश्वासन के समझौते के बाद चक्काजाम आंदोलन को स्थगित किया है। प्रदर्शनकारियो की मांग के अनुरुप पीड़ित परिवार को 2 लाख रुपए की सहायता राशि तत्काल कंपनी द्वारा प्रदान किया गया। इसके अलावा 3 लाख रुपए की मुआवाजा राशि कंपनी द्वारा 12 दिन के भीतर प्रदान किया जाएगा। मृतक के परिजनों को एसआईएस सिक्यूरिटी कंपनी द्वारा 3 लाख रुपए बीमा की सहायता राशि भी प्रदान किया जाएगा। इसके अलावा मृतक की पत्नी रत्ना देवी शांडिल्य को लगभग 5 हजार रुपए मासिक पेंशन आजीवन, तीनों बच्चों को स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी मिडियम स्कूल में नि:शुल्क पढाई और उच्च शिक्षा की व्यवस्था की जाएगी। कंपनी द्वारा मृतक की पत्नी को नौकरी प्रदान घर बैठे 11 हजार रुपए मासिक दिया जाएगा। इसके अलावा ईपीएफ खाते में जमा राशि आश्रित नामिनी को जल्द प्रदान करने की प्रक्रिया की जाएगी।


एसडीएम पामगढ करुण डहरिया ने बताया, घटना को लेकर क्षेत्र में लॉ एंड आर्डर की स्थिति को बनाए रखने के लिए कलेक्टर व एसपी के निर्देश पर सिक्यूरिटी गार्ड प्लेसमेंट एंजेसी को मृतक कर्मचारी के परिजनों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए समझौता कराया। मौके पर अपर कलेक्टर, तहसीलदार जयश्री पंथे, टीआई जितेंद्र बंजारे की उपस्थिति में पीडित परिवार से लिखित समझौते के बाद शव का पंचनामा कर पीएम कराया गया। मुलमला थाना प्रभारी श्री बंजारे ने मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए हत्या के सभी पहलूओं पर बारीकी से संदेहियों की पूछताछ, जांच पड़ताल व डॉग स्कॉवयड की टीम द्वारा कर आरोपियों तक पहुंचने सभी कड़ियों को जोड़ रही है। पुलिस परिजनों के बयान और मृतक के साथ पूर्व में हुए विवाद सहित अलग-अलग पहलुओं पर जांच कर रही है।

भीम आर्मी के प्रदेश अध्यक्ष राजकुमार जांगड़े ने बताया, प्रदेश में लगातार हो रहे दलितों पर अत्याचार के खिलाफ भीम आर्मी सड़क की लड़ाई लड़ रही है। 30 घंटे तक चले आंदोलन के दौरान दिन-रात भीम आर्मी के कार्यकर्ता पीड़ित परिवार के साथ खड़े रहें। भीम आर्मी के प्रदेश श्री जांगड़े द्वारा आज दोपहर एक बजे बिलासपुर-शिवरीनारयण त्रिमूर्ति चौक मुलमुला में चक्काजाम आंदोलन स्थल पर पहुंच कर भीम आर्मी के राष्ट्रीय अध्यक्ष से पीडित परिवार से बातचीत कराया। मंगलवार की सुबह 10 बजे से धरने में बैठे ग्रामीण व मृतक के परिजनों से भीम आर्मी के राष्ट्रीय अध्यक्ष विनय रतन सिंह ने फोन पर संवेदना व्यक्त करते हुए पीडित परिवार को उचित न्याय दिलाने का भरोसा दिलाया।

श्री जांगड़े ने बताया कि सोमवार की देर रात अज्ञात हमलावरों ने ग्राम नरियरा स्थित सरकारी देशी शराब की दुकान में डयूटी पर तैनात गार्ड महेश्वर शांडिल्य छैडोलिया-कोसा निवासी की लोहे के राड से सिर पर वार कर निर्मम हत्या कर वारदात को अंजाम दिया है। घटना की जानकारी होने पर परिजन ने मंगलवार को मुलमुला थाना पहुंच कर घटना की रिपोर्ट दर्ज करने सहित कार्रवाई की मांग करते हुए भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं के साथ चक्काजाम करते हुए आंदोलन में बैठ गए। पीडित परिवार व ग्रामीणों के साथ आंदोलन में 30 घंटे तक भीम आर्मी के जिला अध्यक्ष रामस्वरुप आजाद, सामाजिक कार्यकर्ताओं व ग्रामीण सहित महिलाएं भी चक्काजाम में डटे रहीं। श्री जांगडे ने कहा कि आरोपियों को सजा दिलाने एट्रोसिटी एक्ट के तहत कार्रवाई व न्याय के लिए आगे भी आंदोलन के लिए भीम आर्मी पीडित परिवार के साथ खड़ा रहेगा।

No comments

राजनीति

//