Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

हमारे बारे में

//

सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र के मानव संसाधन विकास विभाग मे 23 नवंबर को राजभाषा विभाग द्वारा यूनीकोड प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन

भिलाई। सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र के मानव संसाधन विकास विभाग मे 23 नवंबर  को राजभाषा विभाग द्वारा हिंदीतर भाषी कार्मिकों के लिए अर्धदिवसीय यून...


भिलाई। सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र के मानव संसाधन विकास विभाग मे 23 नवंबर  को राजभाषा विभाग द्वारा हिंदीतर भाषी कार्मिकों के लिए अर्धदिवसीय यूनीकोड प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया।  कार्यक्रम में विभिन्न विभागों से 21 हिंदीतर भाषी कर्मचारीगण उपस्थित थे।


कार्यक्रम के आरम्भ में प्रतिभागियों का स्वागत करते हुए श्री जितेन्द्र दास मानिकपुरी, सहायक प्रबंधक (संपर्क व प्रशासन-राजभाषा), द्वारा राजभाषा के सांविधिक प्रावधानों की जानकारी एवं यूनीकोड टाइपिंग के विषय में बताया कि किस प्रकार से आप इन्टरनेट की सहायता से, अपने कंप्यूटर में यूनीकोड इन्स्टाल करके कम्प्यूटर पर हिंदी भाषा में आसानी से टाइपिंग कर सकते हैं।

कार्यक्रम में भिलाई इस्पात संयंत्र के इन्ट्रानेट से यूनीकोड फॉण्ट डाउनलोड करना, इन्टरनेट से यूनीकोड डाउनलोड करना, कम्प्यूटर में उसे इन्स्टाल करना, रन करना तथा उसकी सहायता से हिंदी में टाइप करने का प्रशिक्षण दिया गया, उसके पश्चात इन्टरनेट की सहायता से ऑनलाइन वॉइस टायपिंग का भी प्रशिक्षण दिया गया।

कार्यक्रम में सामान्य ज्ञान पर आधारित हिंदी भाषा में एक प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें प्रशिक्षण कार्यक्रम में उपस्थित कर्मचारियों ने हिस्सा लिया। प्रतियोगिता में प्रदर्शन के आधार पर 08 प्रतिभागियों को विजेता घोषित किया गया और पुरस्कार वितरित किए गए।

प्रथम पुरस्कार श्री असित कुमार सरकार, ऑपरेटर (स्टील मेल्टिंग शॉप-2), द्वितीय पुरस्कार श्री कुंवर सिंह भूआर्य, ओसीटी (पर्यावरण प्रबंधन विभाग) तथा तृतीय पुरस्कार श्री राजकुमार क्षत्री, सीनियर टेक्नीशियन, सीआरएम (मेकेनिकल-प्लानिंग) ने प्राप्त किया।

प्रोत्साहन पुरस्कार विजेता रहे-श्री आशीष राजपूत, ओसीटी, पर्यावरण प्रबंधन विभाग, श्री अजी के.टी., टेक्नीशियन, कोक ओवन-सीआरजी (रिफ्रेक्ट्री), श्री नीतिश कुमार रॉय, टेक्नीशियन, इंस्ट्रूमेन्टेशन (एसपी-3, आरएमपी-3), सुश्री स्मृति सिंह, ए.सी.जे.एस.ए., कार्मिक मिल्स जोन-1 एवं श्री संजय कुमार कौशल, चीफ मास्टर टेक्नीशियन, पी एंड ई ऑर्गनाइजेशन – एचएमई।

सभी प्रतिभागियों ने कार्यक्रम को अत्यंत ही उपयोगी निरूपित किया तथा समवेत स्वर में कहा कि यूनीकोड के माध्यम से अब वे अपने कार्यालयीन कार्यों के साथ-ही-साथ घरेलू एवं अन्य टंकण कार्य हिन्दी भाषा में संपन्न कर सकते हैं।

No comments

राजनीति

//