Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

हमारे बारे में

//

दंतेवाड़ा जिले में इंद्रवती नदी में डूबे केंद्रीय विद्यालय के शिक्षक, मुचनार में 2 दिन से जारी था रेस्क्यू

जगदलपुर/दंतेवाड़ाएक  दंतेवाड़ा में इंद्रावती नदी में डूबे केंद्रीय विद्यालय के शिक्षक लाश मिल गई है। दंतेवाड़ा में इंद्रावती नदी में डूबे केंद्...

जगदलपुर/दंतेवाड़ाएक 

दंतेवाड़ा में इंद्रावती नदी में डूबे केंद्रीय विद्यालय के शिक्षक लाश मिल गई है। दंतेवाड़ा में इंद्रावती नदी में डूबे केंद्रीय विद्यालय के शिक्षक लाश मिल गई है।


छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में इंद्रवती नदी में डूबे केंद्रीय विद्यालय के शिक्षक की बॉडी मिल गई है। मुचनार में पिछले 2 दिनों से गोताखोर और बारसूर थाना के जवान रेस्क्यू में लगे हुए थे। मंगलवार की सुबह शव को खोज निकाला गया है। बताया जा रहा है कि घटना स्थल से करीब 800 मीटर की दूरी पर शव मिला है। हादसा रविवार की दोपहर में हुआ था। मामला बारसूर थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, मंगलवार की सुबह इलाके के ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी कि करका घाट की तरफ पानी में एक बॉडी देखी गई है। इसी सूचना पर मुचनार में रेस्क्यू में लगी टीम इंद्रावती नदी के करका घाट की तरफ गई। जहां पानी से शिक्षक मोहनीश साहू (34) के शव को सुबह करीब 9.30 बजे निकाला गया। दंतेवाड़ा की DSP आशारानी ने बताया कि शव को पोस्टमॉर्टम के लिए जिला अस्पताल लाया गया है, जिसके बाद शव परिजनों को सौंपा जाएगा।

साथी को बचाने के लिए पानी में लगाई थी छलांग

दरअसल, रविवार को केंद्रीय विद्यालय के 5 शिक्षक मुचनार में पिकनिक मनाने गए थे। इस दौरान धर्मेंद्र कुमार (30) पानी में नहाने उतरा था, तो वह डूबने लगा था। धर्मेंद्र को डूबता देख साथी शिक्षक मोहनीश साहू (34) ने इंद्रावती नदी में छलांग लगा दी। गहराई ज्यादा होने की वजह से दोनों शिक्षक डूबने लगे। वहीं मौजूद अन्य शिक्षक राकेश शर्मा इन दोनों को बचाने के लिए पानी में उतर गए थे। किसी तरह से धर्मेंद्र को तो निकाल लिया, लेकिन मोहनीश पानी में डूब गया था।

No comments

राजनीति

//